कुल पेज दृश्य

गुरुवार, 20 दिसंबर 2012

चुकंदर सेहत का सिकंदर

चुकंदर को सेहत का सिकंदर कहा है अलसी गुरु डा.ओपी वर्मा ने। दो हजार से अधिक वर्षों से चुकंदर दक्षिण पश्चिम एशिया और भूमध्य क्षेत्र में लोगों की सेहत संवारता आ रहा है। शीतकाल में चुकंदर की फसल बहुतायत से आती है। इसका रस रक्त की तरह लाल होता है। वैसे यह तीन रंगों में पाया जाता है-लाल, जामुनी और सफेद। अंग्रेजी में इसे Beet कहते हैं। चुकंदर में बेटिन नामक एक तत्व है जो जठर और आंतों को स्वच्छ रखता है। यह रक्त वर्धक है, शरीर को लाली प्रदान करता है, शीतल, पौष्टिक और पित्त शामक है। ग्रीक लोग इसका इस्तेमाल काफी करते हैं। उनकी मान्यता है कि यह रक्त को शीतलता प्रदान करता है। यह कैंसर रोधी है। कैंसर के रोगियों को अगर दिया जाए तो लाभ करता है। फ्रांस में कैंसर रोगियों पर इसके कईं प्रयोग हुए और अच्छे परिणाम मिले। सन 1946 में जर्मन चिकित्सक डा.कुण्टुस मन ने चुकंदर के प्रयोग से कैंसर रोगियों का कैंसर ठीक करने में सफलता पाई थी। हंगरी में बीट थैरपी के प्रयोग आज भी जारी हैं। अगर नियमित सेवन करें तो शरीर में बनने वाली गाँठों को यह गला देता है। चुकंदर के साथ गाजर के रस का संयोजन बेहतर रहता है।
1.स्त्रियों में मासिक धर्म अगर कष्टप्रद हो तो चुकंदर के सेवन से लाभ होता है।
2.इससे प्रसूताओं में दूध की मात्रा बढ़ती है।
3.जोड़ों के दर्द में भी यह लाभकारी है।
4.यकृत (लिवर) को शक्ति प्रदान करता है।
5.चुकंदर का रस या उबाल कर इसका सूप बना कर पीने से पथरी गल कर निकल जाती है।
6.चुकंदर के पत्तों को मेंहदी के साथ पीस कर बालों में लगाने से बाल झड़ना बंद होते हैं और बाल तेजी से बढ़ते हैं। इसके पत्तों को पानी में उबाल कर सिर धोने से रूसी दूर होती है।
7.दो चम्मच चुकंदर के रस में एक चम्मच शहद मिला कर नित्य कुछ दिन लेने से गैस्ट्रिक अल्सर में लाभ होता है।
8.बवासीर के मस्से चुकंदर नियमित खाते रहने से झड़ जाते हैं।
9.रोज सौ ग्राम चुकंदर का रस पीने से नाखून सुंदर और चमकीले हो जाते हैं।
10.चुकंदर, लाल टमाटर और कच्ची हल्दी तीनों को मिला कर इसका रस 15 दिन तक सुबह शाम लिया जाए तो त्वचा का रंग गोरा हो जाता है।
संदर्भःभोजन द्वारा चिकित्सा और रसाहार द्वारा तंदुरुस्ती।
 चुकंदर के वैज्ञानिक पक्ष को flaxindia.blogspot.com
पर जाकर विस्तार से देख सकते हैं।

Raw beetroot (100g) provides:
 Food Elements
Per 100g
GDA*
Energy

162 kJ / 38 kcal
2%
Carbohydrate 
of which sugar 
of which starch
g
g
g
7.6
7.0
0.6
3%
8%
Fibre
g
1.9
8%
Sodium 
Equivalent as salt
g
g
0.1
0.17

3%
Vitamin C
8%
Folic Acid (Folate)
75%
Potassium (K)
11%
Iron (fe)
7%
Zinc (Zn)
3%
Magnesium (Mg)
4%

1 टिप्पणी:

  1. ऐसे भी बन सकता है चुकंदर का हलवा ....
    Raw Beetroot Halvah

    Traditionally beetroot halvah is made by cooking beetroot at high temperature for long periods of time and adding refined sugar at the end. When you cook beetroot it loses most of its nutrition and we all know refined sugar is not good for you. Once you try this recipe you will never go back to traditional halva. This is more delicious than cooked version.

    5 medium size beetroots,grated

    5 bananas

    4-6 tbsp honey

    1cup soaked peanuts

    Mix grated beets and bananas (preferably with hand, it will be mushy in blender). Add peanuts and honey to the mixture.

    उत्तर देंहटाएं