कुल पेज दृश्य

शुक्रवार, 1 जून 2012

केदार हिम

अलसी गुरु ने केदार हिम बनाने की विधि पोस्ट की है, जिन लोगों को अलसी का कोल्डफ्रीज तेल उपलब्ध न हो, वे इस विधि से स्वादिष्ट व पौष्टिक आइसक्रीम बना सकते हैं। बाजार की घातक आइसक्रीम के मुकाबले कईं बेहतर है यह आइसक्रीम।



सामग्रीः –
1. कंडेंस्ड मिल्क एक टिन 400 ग्राम। 2. ताजा बारीक पिसी अलसी 100 ग्राम। 3. दूध 1 लीटर। 4. अलसी के अंकुरित या किशमिश चौथाई कप। 5. बारीक कटी बादाम 25 ग्राम। 6. वनीला एक छोटी चम्मच। 7. चीनी स्वादानुसार। 8. कोको पाउडर 50 ग्राम।

केदार हिम बनाने की विधिः–

सबसे पहले दूध गर्म कीजिये। थोड़े से (लगभग 100-150 ग्राम) में अलसी के पाउडर को अच्छी तरह मिला कर एक ओर रख दें। फिर दूध को धीमी-धीमी आंच पर 15-20 मिनट तक औटा कर ठंडा होने के लिये रख दें। अब दूध, चीनी, कंडेंस्ड मिल्क और अलसी के मिश्रण को बिजली से चलने वाले हैंड ब्लेंडर से अच्छी तरह फैंटे। मेवे, वनीला मिला कर फ्रीजिंग ट्रे में रख कर जमने के लिए डीप फ्रीजर में रख दें। चाहें तो आधी जमने पर फ्रीजिंग ट्रे को बाहर निकाल कर एक बार और अच्छी तरह फैंट कर डीप फ्रीजर में रख दें। अगले दिन सुबह आपकी स्वास्थ्यप्रद, प्रिजर्वेटिव, रंगों व घातक रसायन मुक्त केदार हिम तैयार है।
Posted by Dr. O.P.Verma at 3:54 PM

1 टिप्पणी:

  1. Kedarnath (Hindi: केदारनाथ) is a Hindu holy town located in the Indian state of Uttarakhand. It is a nagar panchayat in Rudraprayag district. The most remote of the four Char Dham sites, Kedarnath is located in the Himalayas, about 3553 m (11657 ft) above sea level near the head of river Mandakini, and is flanked by breathtaking snow-capped peaks. Kedarnath hosts one of the holiest Hindu temples, the Kedarnath Temple, and is a popular destination for Hindu pilgrims from all over the world, being one of the four major sites in India's Chota Char Dham pilgrimage.
    Kedarnath is named in honor of King Kedar who ruled in the Satya Yuga. He had a daughter named Vrinda who was a partial incarnation of Goddess Lakshmi. She performed austerities for 60000 years. In honour of her, the land is named Vrindavan. However, Kedarnath and its temple exist from the Mahabharata Era when the Pandavas are supposed to have pleased Lord Shiva by doing penance there.

    उत्तर देंहटाएं